वेस्ट इंडीज़ और इंग्लैंड के बीच दूसरा टेस्ट मैच भी हुआ ड्रॉ, ब्रेथवेट ने एक टेस्ट मैच में सबसे ज्यादा गेंदे खेलने वाले ब्रायन लारा का तोड़ा रिकॉर्ड

बारबाडोस में हो रहे इंग्लैंड बनाम वेस्ट इंडीज दूसरा टेस्ट भी हुआ ड्रॉ। इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 507 रन बनाए। जिसमे जोए रूट ने 153 और बेन स्टोक्स ने मात्र 128 गेंदों में 120 रन बनाए। उन्होंने अपनी पारी में 11 चौके और 6 छक्के लगाए। वेस्ट इंडीज की ओर से परमौल ने 3 और रोच ने 2 विकेट चटकाए।

बल्लेबाजी करने उतरी वेस्ट इंडीज की टीम ने 101 रन पर ही तीन विकेट खो दिए। परंतु वेस्ट इंडीज के कप्तान ब्रेथवेट क्रीज पर जमे रहे। उन्होंने 489 गेंदे खेलकर 160 रन बनाए। दूसरे छोर से उनका साथ दे रहे ब्लैकवुड 0 रन पर एलबीडब्ल्यू हुए थे परंतु अंपायर ने इस अपील को नकारा और इंग्लैंड ने भी रिव्यू नहीं लिया। बाद में रिप्ले में पता चला कि ब्लैकवुड आउट थे। इस अपील पर रिव्यू न लेना इंग्लैंड के लिए बोहत भारी पड़ा। इसके बाद ब्लैकवुड ने 225 गेंदे खेलकर 102 रन बनाए। वेस्ट इंडीज की पहली पारी 411 रन पर ही सिमट गई और इंग्लैंड को 96 रनों की लीड मिली। इंग्लैंड की और से जैक लीच ने 3, स्टोक्स और महमूद ने 2 विकेट्स चटकाए।

चौथे दिन की समाप्ति तक इंग्लैंड ने बिना विकेट खोए 40 रन बनाए थे। पांचवे दिन का खेल शुरू होते ही इंग्लैंड के बल्लेबाजों ने पहले सत्र में तेज बल्लेबाजी करते हुए छे विकेट खो कर  145 रन बना लिए थे और इसी के साथ ही उन्होंने पारी को घोषित करके वेस्ट इंडीज को 282 रनो का लक्ष्य दिया।

चौथी पारी खेलने उतरी वेस्ट इंडीज टीम के कप्तान एक बार फिर इंग्लैंड की जीत का सपना तोड़ते हुए क्रीज पर डटे रहे। उन्होंने 184 गेंदे खेलकर 56 रन बनाए और मैच को ड्रॉ तक पोहचाया। ब्रेथवेट ने वेस्ट इंडीज की और से एक टेस्ट मैच में सबसे ज्यादा गेंदे खेलने वाले ब्रायन लारा का भी रिकॉर्ड तोड़ दिया है। उन्होंने इस मैच में 673 गेंदों का सामना किया। इससे पहले ब्रेन लारा ने 2004 में इंग्लैंड के खिलाफ ही 582 गेंदे खेली थी।

पिछले 11 सालों में बारबाडोस में यह पहला टेस्ट मैच ड्रॉ हुआ  है। इससे पहले 2011 में भारत के खिलाफ मैच ड्रॉ हुआ था। परंतु वह भी बारिश के कारण ड्रॉ करना पड़ा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.